Hindi

एक बार एक लड़का

💝अपने स्कूल की फीस भरने के लिए

💝एक दरवाजे से

💝दूसरे दरवाजे तक

💝कुछ सामान बेचा करता था,

 

💛एक दिन उसका

💛कोई सामान नहीं बिका

💛और उसे बड़े जोर से

💛भूख भी लग रही थी.

💛उसने तय किया कि

💛अब वह जिस भी दरवाजे पर जायेगा,

💛उससे खाना मांग लेगा…

 

❤पहला दरवाजा खटखटाते ही

❤एक लड़की ने दरवाजा खोला,

❤जिसे देखकर वह घबरा गया

❤और बजाय खाने के उसने

❤पानी का एक गिलास माँगा….

 

💙लड़की ने भांप लिया था कि

💙वह भूखा है, इसलिए वह

💙एक.. बड़ा गिलास दूध का ले आई.

💙लड़के ने धीरे-धीरे दूध पी लिया…

 

💚” कितने पैसे दूं ?”

💚लड़के ने पूछा.

💚” पैसे किस बात के ?”

💚लड़की ने जवाव में कहा.

💚”माँ ने मुझे सिखाया है कि

💚जब भी किसी पर दया करो तो

💚उसके पैसे नहीं लेने चाहिए.”

 

💘”तो फिर मैं आपको

💘दिल से धन्यवाद देता हूँ.”

💘जैसे ही उस लड़के ने वह घर छोड़ा,

💘उसे न केवल शारीरिक तौर पर

💘शक्ति भी मिल चुकी थी ,

💘बल्कि उसका भगवान् और

💘आदमी पर भरोसा और भी बढ़ गया था

 

💔सालों बाद वह लड़की

💔गंभीर रूप से बीमार पड़ गयी.

💔लोकल डॉक्टर ने उसे

💔शहर के बड़े अस्पताल में

💔इलाज के लिए भेज दिया…

 

💜विशेषज्ञ डॉक्टर होवार्ड  केल्ली को 💜मरीज देखने के लिए बुलाया गया.

💜जैसे ही उसने लड़की के

💜कस्बे का नाम सुना,

💜उसकी आँखों में चमक आ गयी…

 

💖वह एकदम सीट से उठा

💖और उस लड़की के कमरे में गया.

💖उसने उस लड़की को देखा,

💖एकदम पहचान लिया और

💖तय कर लिया कि वह

💖उसकी जान बचाने के लिए

💖जमीन-आसमान एक कर देगा….

 

🌹उसकी मेहनत और लग्न रंग लायी

🌹और उस लड़की कि जान बच गयी.

🌹डॉक्टर ने अस्पताल के

🌹ऑफिस में जा कर उस

🌹लड़की के इलाज का बिल लिया….

 

🌻उस बिल के कौने में

🌻एक नोट लिखा और

🌻उसे उस लड़की के पास

🌻भिजवा दिया.

🌻लड़की बिल का

🌻लिफाफा देखकर घबरागयी…

 

💐उसे मालूम था कि

💐वह बीमारी से तो वह बच गयी है

💐लेकिन बिल कि रकम

💐जरूर उसकी जान ले लेगी…

 

🍀फिर भी उसने धीरे से बिल खोला,

🍀रकम को देखा और फिर

🍀अचानक उसकी नज़र बिल के

🍀कौने में पैन से लिखे नोट पर गयी…

 

🌸जहाँ लिखा था,

🌸”एक गिलास दूध द्वारा इस बिल का 🌸भुगतान किया जा चुका है.

🌸” नीचे  उस नेक डॉक्टर

🌸होवार्ड केल्ली के हस्ताक्षर थे.

 

🌺ख़ुशी और अचम्भे से

🌺उस लड़की के गालों पर आंसू टपक पड़े

🌺उसने ऊपर कि और दोनों हाथ उठा कर

🌺कहा, ” हे भगवान..!

🌺आपका बहुत-बहुत धन्यवाद..

🌺आपका प्यार इंसानों के

🌺दिलों और हाथों के द्वारा

🌺न जाने कहाँ- कहाँ फैल चुका है.”

 

🌷अगर आप दूसरों पर..

🌷अच्छाई करोगे तो..

🌷आपके साथ भी.. अच्छा ही होगा ..!!


आखिरी आशियाना

सुखमय वृद्धावस्था के लिए 11 विधियां….

*1* अपने स्वयं के स्थान पर रहो ताकि स्वतंत्रता और गोपनीयता पूर्वक जीवन जीने का आनंद ले सकें।

*2* अपना बैंक बेलेंस और भौतिक अमूल्य संपत्ति सदा अपने पास रखो।

*3* अपने बच्चों के इस वादे पर निर्भर मत रहो कि वो वृद्धावस्था में आपकी सेवा करेंगे क्योंकि समय बदलने के साथ उनकी प्राथमिकता भी बदल जाती है।

*4* उन लोगों को अपने मित्र समूह में शामिल करें जो आपके जीवन जीने में सहयोगी बन सकते हैं।

*5* किसी के साथ तुलना नहीं करें और किसी से कोई उम्मीद ना रखें।

*6* अपनी संतानो के जीवन में दखल अन्दाजी ना करें। उन्हें अपने तरीके से अपना जीवन जीने दें।

*7* अपनी वृद्धावस्था को आधार बनाकर किसी से सेवा करवाने, सम्मान पाने का प्रयास ना करें।

*8* लोगों की बातें सुनें लेकिन अपने स्वतंत्र विचारों के आधार पर निर्णय लें।

*9* प्रार्थना करें लेकिन भीख ना मांगे, यहाँ तक कि भगवान से भी नहीं। अगर भगवान से कुछ मांगे तो सिर्फ माफ़ी।

अंतिम 2 बातें और…..

*10* अपने स्वास्थ्य का स्वयं ध्यान रखें। चिकित्सीय परीक्षण के अलावा अपने आर्थिक सामर्थ्य अनुसार अच्छा पौष्टिक भोजन खाएं और यथा सम्भव अपना काम अपने हाथों से करें।

*11* अपने जीवन से कभी थकें नहीं।

याद रखें जब तक आप जीना शुरू नहीं करते हैं तब तक आप जीवित नहीं हैं।

*खुशनुमा जीवन की शुभकामनाओं के साथ*

किसी से अपने जैसे होने की उम्मीद मत रखिये, क्योंकि आप अपने सीधे हाथ में किसी का सीधा हाथ पकड़ कर कभी नहीं चल सकते, किसी के साथ चलने के लिए अपने सीधे हाथ में उसका उल्टा हाथ ही पकड़ना पड़ता है, तभी साथ चला जा सकता है